Aam Aadmi Party

घोषणा पत्र

भारतीय लोकतंत्र आज दोराहे पर खड़ा है. आजादी के ६५ वर्ष  बाद भी, अभी स्वराज का सपना पूरा होना शेष है. देश का लोकतंत्र एक
उबाऊ नीरसता मेंसिमट कर रह गया है, जो हर पाँच वर्ष  में होने वाले चुनाव, तानाशाह के हाथ होने वाली उपेक्षा
और अपमान से जर्जर हो रहा है। राजनैतिक पार्टिया लोगो  की आवाज़ को खोज पाने और सब तक पहुँचाने में सहायक होने के बजाय
एक चुनावी यंत्र बन कर रह गई है | ये यंत्र, पहले मतदाताओं  को पकड़ कर उनके आगे झूठे वादो का‘चारा’ डालते है और बाद में उसे ही ‘चारा’ बना कर इस्तेमाल करते है …………………

घोषणा पत्र विस्तार में पढ़ने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करे

 

घोषणापत्र – आ.आ.पा(हिन्दी में)

Manifesto – AAP(In English)